Ayurveda/दोषो की संख्या Sample Test,Sample questions

Question: आचार्य चरक ने शरीर के संभंध म कहा है कि

1.आहारसम्भवमवस्तु।।

2.दोषधातुमलमूलं हि शरीरं।।

3.दोषधातुमला मूलं सदा देहस्य।।

4.None


Question: इनमे से कौनसा मानसिक दोष नही है?

1.रज

2.तम

3.सत्व

4.None


Question: कोनसा वाक्य सही है ??

1.कफ अपने विसर्ग कर्म से शरीर को धारण करता है

2.वात अपने विछेप कर्म से शरीर को धारण करता है

3.पित्त अपने आदान कर्म से शरीर को धारण करता है

4.सभी सही है


Question: जो शरीर का धारण करे उसे क्या कहते है?

1.धातु

2.दोष

3.मल

4.सभी


Question: जो शरीर को दूषित करे उसे __कहते है

1.धातु

2.मल

3.दोष

4.None


Question: जो शरीर को मलिन करे उसे

1.धातु व मल कहते है

2.दोष व धातु कहते है

3.मल कहते है

4.दोष कहते है


Question: दोष धातु मल मूलम हि शरीरं।। किस आचार्य का श्लोक है

1.चरक

2.सुश्रुत

3.भागभट्ट

4.None


Question: नाभि और हृदय के बीच में किसका स्थान है??

1.पित्त

2.कफ

3.वात ओर पित्त

4.कफ और वात


Question: नाभि के नीचे किस दोष का स्थान है

1.कफ

2.पित्त

3.वात

4.पित्त और वात


Question: पंचमहाभूत के विकार समहू तथा आत्मा के आश्रयभूत को क्या कहते है ??

1.शारीर दोष

2.भूतात्मा

3.शरीर

4.गर्भ


Question: मन को प्रभावित करने बाले कारण है??

1.सत्व

2.रज

3.तम

4.All


Question: मानसिक दोष है ?

1.वात

2.पित्त

3.कफ

4.तम


Question: मानसिक दोषो की संख्या है

1.3

2.2

3.1

4.4


Question: शरीर की परिभाषा इस प्रकार कह सकते है कि जिसमे

1.पंचमहाभूत का विकार समहू हो

2.आत्मा का वास हो

3.आंतर क्रियाये सम्यक भाव से हो रही हो

4.All


Question: शरीर के उत्पत्ति के कारण है

1.वात

2.पित्त

3.कफ

4.All


Question: शरीर के मूल है ?

1.दोष, धातु, मल

2.सिर्फ मल

3.सिर्फ धातु

4.सिर्फ दोष


Question: शरीर दोष है

1.सत्व

2.रज

3.तम

4.वात


Question: शारीरिक दोष कितने है ?

1.2

2.3

3.4

4.5


Question: हिताहितं सुखं दुखं.... स उच्यते। किसका श्लोक है ??

1.चरक

2.सुश्रुत

3.बागभट्ट

4.None


Question: हृदय के ऊपर स्थान है

1.वात का

2.कफ का

3.पित्त का

4.किसी का नही


Search
R4R Team
R4Rin Top Tutorials are Core Java,Hibernate ,Spring,Sturts.The content on R4R.in website is done by expert team not only with the help of books but along with the strong professional knowledge in all context like coding,designing, marketing,etc!